OTP क्या हैं, इसके क्या लाभ हैं ?

OTP क्या हैं ?
आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगे ओटीपी (OTP) क्या हैं और इसका मतलब क्या होता हैं और इसके क्या लाभ हैं. आप जब भी किसी App login करते हैं तब या किसी ऑनलाइन payment या फिर जब कोई अकाउंट बनाते हैं तो आपको पहचानने के लिए या कहेतो आपको वेरीफाई करने के लिए आपके मोबाइल पर एक OTP भेजा जाता हैं जिससे की आपके वास्तविकता किस पहचान की जाती हैं. आज के डिजिटल युग में अधिकतर काम online हो गया हैं, चाहे हमे पैसे भेजने हो या एटीएम से निकलेन हो. लेकिन अगर पैसे निकलेन या भेजने की बात आती हैं तो क्या यह सुरक्षीत हैं, जी हाँ यह सुरक्षित हैं. इसी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए.

OTP का निर्माण किया गया जिससे की लोगो की वास्तविकता की जाँच की जा सके, जिसे की यह पता चल सके की जो यह पेमेंट किया जा रहा हैं उसी व्यक्ति व्दारा किया जा रहा जो की आपने खाते का वास्तविक मालिक है. आज के समय में छोटे से छोटे online कार्यो के लिए भी पहले otp डालने की जरूरत होती हैं.

 अगर आप किसी Application में अपना अकाउंट बना रहे हैं और आपके अकाउंट का यूजर नाम और पासवर्ड किसी को पता चाल भी गया तो वह व्यक्ति आपके अकाउंट को ओपन नहीं कर सकता क्यों की एप्लीकेशन वाले आपके सुरक्षा के लिए आपके और आपके वास्तविकता की जाँच करने के लिए मोबाइल या ईमेल पर OTP भेज कर आपको वेरीफाई करेंगे. क्योकि आज के समय में अगर हम पैसे ऑनलाइन भेजने की बात करे तो भेजना जितना आसान है उतना ही जोखिम भरा भी इसी लिए कम्पनी पहले हमे otp के जरिए वेरीफाई करती है उसके बाद पेमेंट करती हैं.

ओटीपी क्या हैं

जब हम कंप्यूटर सिस्टम या किसी अन्य डिजिटल डिवाइस मे कोई भी अकाउंट से संबंधित जानकारी प्रविष्ट करते हैं या किसी प्रकार का ट्रांजेक्शन करते हैं तो उपयोगकर्ता को उसके दर्ज मोबाइल नंबर पर OTP सेंड किया जाता है जिससे उपयोगकर्ता की वास्तविक पहचान की जा सके.

OTP का Full Form (One Time Password) होता है जो की 6 अंको वाला एक Unicode code होता है.

जिसकी बैधता सिर्फ 5 mins  या 10 mins तक की होती है यदि आप इन 5 mins या 10 mins  के अंदर OTP का इस्तेमाल नहीं करते हैं, तो यह बेकार चला जाता है फिर आपको OTP दोबारा से मंगवाने की जरुरत पड़ती है जो की पिछले OTP से अलग होता है.

OTP के लाभ

ज्यदातर लोग simple password का इस्तमाल करते है, जिसमे आपका password कुछ भी हो सकता हैं जैसे की आपका नाम, जन्म तिथी या फिर कुछ भी जो की आसानी से hacker व्दारा या आपके नजदीकियों व्दारा hack किया जा सकता हैं.

लेकिन OTP होने से अगर आपका password कोई पता भी कर लेता तो वह बिना OTP डाले आपके अकाउंट को खोल भी नहीं सतकता. जोकि OTP आपके मोबाइल नंबर पे आता हैं जो आपके अकाउंट से लिंक हैं. 

OTP  की मदद से हमारे कई सारे अकाउंटो को सुरक्षा मिलती हैं, जिसके व्दारा हमारे कई अकाउंट जैसे गूगल अकाउंट , फेसबुक , नेट बैंक इत्यादी Secure रहते हैं. 

Post a Comment

0 Comments